नैतिक कहानियाँ
Trending

विद्याभ्यास- प्रेरणादायक कहानी / vidyabhyas motivational story

विद्याभ्यास- प्रेरणादायक कहानी

Story Highlights
  • Knowledge is power
  • The Future Of Possible
  • Hibs and Ross County fans on final
  • Tip of the day: That man again
  • Hibs and Ross County fans on final
  • Spieth in danger of missing cut

Vidyabhyas motivational story

 

ज हम आपके लिए नैतिक कहानियों की श्रृंखला में विद्याभ्यास- प्रेरणादायक कहानी लेकर आये हैं। यह विद्यार्थियों एवं विद्वानों को नियमित स्वाध्याय के लिए प्रेरित करती है।

विद्याभ्यास- प्रेरणादायक कहानी

प्राचीनकाल में एक गुरुकुल से एक विद्यार्थी स्नातक की उपाधि प्राप्त करके जब घर जाने लगा, तो गुरुजी ने उसे उपदेश दिया कि प्रतिदिन कुछ न कुछ अवश्य पढ़ना और पढ़ाना चाहिए।

शिष्य ने गुरु की बात गांठ बांध ली। घर वापस आकर उसने प्रतिदिन अध्ययन करना प्रारंभ कर दिया। लेकिन गुरु की आज्ञा के अनुसार प्रतिदिन पढ़ाना भी आवश्यक था। इसके लिए उसने गांव के बच्चों को पढ़ाने का विचार किया।

Vidyabhyas motivational story
Vidyabhyas motivational story

Great things in business are never done by one person. They’re done by a team of people. Steve Jobs

उसने ग्रामीणों से बात की तो वे अपने बच्चों को उसके पास भेजने को तैयार हो गए। विद्यालय से वापस आकर बच्चे उस स्नातक के पास अध्ययन के लिए आने लगे। धीरे-धीरे वे बच्चे इतने होशियार हो गए कि विद्यालय में अपने शिक्षकों के पढ़ाने में भी कमियां निकालने लगे।

Doing the best at this moment puts you in the best place for the next moment! Oprah Winfrey

शिक्षकों ने सोचा कि ये अचानक इतने तेज कैसे हो गए ? पता करने पर पता चला कि गांव में एक स्नातक आया है जो रोज इन बच्चों को पढ़ाता है। शिक्षकों ने सोचा कि वही इन्हें सिखाता होगा कमियां निकालने के लिए।

Vidyabhyas motivational story

Success is largely a matter of holding on after others have let go!

  • A year from now you may wish you had started today.
  • The question isn’t who is going to let me; it’s who is going to stop me.
  • Success is the sum of small efforts, repeated day-in and day-out.
  • I find that the harder I work, the more luck I seem to have.
  • If people did not do silly things, nothing intelligent would ever get done.
  • Before anything else, preparation is the key to success.

Vidyabhyas motivational story

इसलिए सभी शिक्षकों ने मिलकर विचार किया कि बच्चों को इसके पास जाने से रोका जाए। सभी ने किसी बच्चे को प्रलोभन देकर तो किसी को भय दिखाकर स्नातक के पास पढ़ने जाने से रोक दिया।

दूसरे दिन बच्चे उसके पास पढ़ने नहीं गए। तब दूसरे दिन शिक्षकों ने सोचा कि चलकर देखना चाहिए कि अब वह स्नातक क्या कर रहा है ? जब वे लोग उसके घर पर पहुंचे तो उन्होंने देखा कि उसके घर के सामने दस-बारह खूंटे गड़े हैं और वह उनके सामने बैठकर विद्याभ्यास कर रहा है।

Vidyabhyas motivational story

शिक्षकों ने उससे पूछा कि यह क्या है ? तब उसने उत्तर दिया कि मुझे केवल विद्याभ्यास से मतलब है। जब बच्चे नहीं आ रहे हैं तो मैं इन खूँटों के सामने ही अभ्यास कर रहा हूँ। यह सुनकर सभी शिक्षकों को आभास हुआ कि यह सच्चा विद्याध्यायी है।

Vidyabhyas motivational story

उन्होंने उसे आचार्य की उपाधि प्रदान की। संस्कृत में खूंटे को शंकु कहा जाता है। इसलिए उसका नाम आचार्य शंकुक पड़ा। जो कि काव्यशास्त्र एवं न्यायशास्त्र के मूर्धन्य विद्वान माने जाते हैं। जिनका रस संबंधी अभिमत- अनुमितिवाद (चित्र- तुरगन्याय) आज भी पढ़ा और पढ़ाया जाता है।

post-image-2

सीख- Moral

 

किसी भी विद्या अथवा कला का नियमित अभ्यास आवश्यक है। अन्यथा वह क्षीण हो जाती है। इसलिए विद्यार्थियों, विद्वानों एवं कलाकारों को नियमित अभ्यास अवश्य करना चाहिए।

Vidyabhyas motivational story

 

.

Great things in business are never done by one person. They’re done by a team of people. Steve Jobs

User Rating: Be the first one !

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
error: Content is protected !!

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker